http://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js शिक्षा की अलख जगाने वाले पारा शिक्षकों को महज 8 हजार रूपये मानदेय, परंतु भविष्य बिगाड़ने वाले शराब बिक्रेताओं को 24 हजार रूपये तनख्वाह’ – प्रथम सीएम सह झाविमो सुप्रीमो , .बाबूलाल मरांडी – INDIA NEWS LIVE
Don't Miss
Home / झारखंड / Giridih / शिक्षा की अलख जगाने वाले पारा शिक्षकों को महज 8 हजार रूपये मानदेय, परंतु भविष्य बिगाड़ने वाले शराब बिक्रेताओं को 24 हजार रूपये तनख्वाह’ – प्रथम सीएम सह झाविमो सुप्रीमो , .बाबूलाल मरांडी

शिक्षा की अलख जगाने वाले पारा शिक्षकों को महज 8 हजार रूपये मानदेय, परंतु भविष्य बिगाड़ने वाले शराब बिक्रेताओं को 24 हजार रूपये तनख्वाह’ – प्रथम सीएम सह झाविमो सुप्रीमो , .बाबूलाल मरांडी

*INL Team*                                डुमरी:यह कैसी विडंबना है कि बच्चों के भविष्य संवारने वाले व ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित विद्यालयों में शिक्षा की अलख जगाने वाले पारा शिक्षकों को महज आठ हजार रूपये मानदेय देती है ၊ परंतु भविष्य बिगाड़ने वाले शराब बिक्रेताओं को सरकार चौबीस हजार रूपये तनख्वाह देती है, जो
सरकार की ओछी मानसिकता व अदूरदर्शिता को दर्शाती है । यह कहना सूबे के पूर्व सीएम सह झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी का । वे मंगलवार को रांची से गिरिडीह जाने के क्रम में वनांचल चौक में उपस्थित समर्थकों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही।उन्होंने कहा कि सूबे की सरकार सबका साथ सबका विकास के सिद्धान्त पर कार्य करने की दंभ भरती है ၊ लेकिन वास्तविकता यह है कि चाहे केन्द्र सरकार हो चाहे राज्य सरकार हो,साथ तो सबका लिया ၊ लेकिन विकास सिर्फ कॉरपोरेट घरानों का किया।कहा कि जिस उद्देश्य व सपनों को पूर्ण करने के लिए झारखंड अलग हुआ वह सपना आज भी अधूरा है।कहा कि एनडीए की सरकार झारखंडियों को उसकी मूलभूत सुविधाएं तो उपलब्ध नहीं करा पाई उल्टे उनकी जमीनें भी छिन ले रही है।कहा कि सरकार कि निर्णयों एवं जनविरोधी नीतियों का विरोध करने वालों को जेल में डाल देती है।
कहा कि जिस तरह सरकार जमाबंदी को रद्द कर लोगों को बेरोजगार व बेघर कर रही है उससे लोगों में आक्रोश है जिसका खमियाजा भाजपा को आनेवाला चुनाव में भुगतान पड़ेगा।लोग हताश व निराश हैं।चारो ओर भय का माहौल है।कहा कि भाजपा से टक्कर लेने की हिम्मत झाविमो को छोड़ किसी भी राजनीतिक दल में नहीं है।कहा कि झाविमो सरकार के गलत निर्णयों एवं जनविरोधी नीतियों के विरूद्ध सड़क से सदन तक आंदोलन करती रही है और रहेगी।वहीं केन्द्रीय सचिव सुरेश सेठ ने कहा कि सूबे की सरकार झारखंडियों को उसके हक व माटी से वंचित करने में तुली है । कहा कि सूबे की जनविरोधी सरकार गरीबों से हक व अधिकार भी छिन ले रही है । कहा कि हक की अधिकार मांगने वालों की आवाज को दबा दी जा रही है ၊ जिसका जवाब राज्य की जनता आनेवाला चुनाव में देगी।इस दौरान अठारह फरवरी को राजधनवार में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में हजारों की संख्या में शामिल होने की अपील की।अध्यक्षता प्रखंड संयोजक जलालुद्दीन अंसारी ने किया।इसदौरान इकबाल अंसारी,मंसूर अंसारी,सीताराम यादव,मनोहर कुमार,नौशाद अंसारी,संतोष तुरी, हाशिम अंसारी,आलम अंसारी,लालबाबू तुरी,प्रयाग महतो आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।इसके पूर्व कार्यकर्ताओं ने पार्टी सुप्रीमो को फूल माला पहना जोरदार स्वागत किया।

TelegramWhatsAppTwitterFacebookGoogle Bookmarks

About Admin

Admission Open

एशियन गेस्ट हाउस

x

Check Also

​ जमुई: खुशबू के हत्याकांड में नामजद रिंकू वर्णवाल ने कोर्ट में किया सरेंडर

जमुई ब्युरो, संजीत कुमार बर्णवाल ၊ जमूई जिला के सोनो थाना क्षेत्र ...

Translate »