http://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js पीएनबी घोटाला मामले में पहली गिरफ्तारी हुई ; मुंबई ब्रांच के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी मुंबई से गिफ्तार – INDIA NEWS LIVE
Home / Country / पीएनबी घोटाला मामले में पहली गिरफ्तारी हुई ; मुंबई ब्रांच के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी मुंबई से गिफ्तार

पीएनबी घोटाला मामले में पहली गिरफ्तारी हुई ; मुंबई ब्रांच के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी मुंबई से गिफ्तार


पीएनबी घोटाला मामले में पहली गिरफ्तारी हुई है. पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई ब्रांच के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी को मुंबई से गिफ्तार कर लिया गया है. गोकुलनाथ शेट्टी पर आरोप है कि उसने बिना बैंक को बताए और बिना बैंक को गारंटी दिलाए नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को कर्ज दिलाया. गोकुलनाथ शेट्टी के साथ 2 और लोग गिरफ्तार किए गए हैं जिनके नाम मनोज करात, हेमंत भट्ट हैं.

कौन है गोकुलनाथ शेट्टी/क्या है पीएनबी घोटाला
गोकुलनाथ शेट्टी पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई ब्रांच का पूर्व डिप्टी मैनेजर है और उसी के कहने पर पीएनबी की ओर से गारंटी दी गई जबकि गारंटी देने की जानकारी पीएनबी के सिस्टम को नहीं थी. गोकुलनाश शेट्टी पिछले साल रिटायर हो चुका है. उस पर ये आरोप है कि उसने बिना बैंक को बताए उसकी गारंटी पर डायमंड किंग नीरव मोदी और गीतंजलि जेम्स के प्रमोटर मेहुल चौकसी को विदेश से भी लोन दिलाए. पीएनबी की गारंटी पर एक्सिस बैंक और इलाहाबाद बैंक ने भी पैसे दिए.

नीरव मोदी, मेहुल चौकसी ने जो पैसे पीएनबी की गारंटी पर उठाए उसे लौटाया नहीं. लिहाजा एक्सिस बैंक और इलाहाबाद बैंक के भी पैसे फंस चुके हैं और 11 हजार 500 करोड़ का घोटाला दर्ज हो चुका है.

देश के बैंकिंग इतिहास के सबसे बड़े फ्रॉड में से एक पंजाब नेशनल बैंक के 11,500 करोड़ रुपये के घोटाले के खुलासे के बाद डायमंड किंग नीरव मोदी और गीतंजलि जेम्स के प्रमोटर मेहुल चौकसी के खिलाफ सीबीआई की तरफ से शिकायत के बाद एफआईआर दर्ज की गई है. नीरव मोदी और मेहुल चौकसी इस घोटाले का मुख्य आरोपी है और उसे देखते ही पकड़ने के लिए लुकआउट नोटिस भी जारी किया जा चुका है. विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का पासपोर्ट निलंबित कर दिया है और इनके विदेश के आउटलेट्स पर भी कारोबार न करने का आदेश दिया जा चुका है.

पीएनबी घोटाले की चर्चा 4 दिन से चल रही है और इस मामले को लेकर कल बेहद बड़ी राजनीतिक उठापठक भी देखने को मिली. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कल कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्पोरेट अफेयर मिनिस्ट्री, प्रवर्तन निदेशालय, सीरीयस फ्रॉड इनवेस्टिगेटिव ऑफिस, सेबी, महाराष्ट्र सरकार और गुजरात सरकार को सात मई 2015 से इस पूरे घोटाले की जानकारी थी.

FacebookTwitterGoogle+WhatsApp

About Admin

x

Check Also

कटिहार के दुर्गास्थान चौक पर हमेशा लगता है घंटो जाम लोग हो रहे है परेशान ट्रैफिक पुलिस की कर रहे है मांग ——-

कटिहार से सरफराज अंसारी की रिपोर्ट—— कटिहार में जाम की समस्या आये ...

Translate »
Powered by shf network private limited