http://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js बिहार में गोपालगंज मेें साढ़े 3 लाख की सुपारी देकर कराई गई थी मुखिया और बेटे की हत्या – INDIA NEWS LIVE
Don't Miss
Home / Bihar / Patna / बिहार में गोपालगंज मेें साढ़े 3 लाख की सुपारी देकर कराई गई थी मुखिया और बेटे की हत्या

बिहार में गोपालगंज मेें साढ़े 3 लाख की सुपारी देकर कराई गई थी मुखिया और बेटे की हत्या

Share

दिनेश कुमार पंडित
रिपोर्ट
बिहार के जिला गोपालगंज में पुलिस ने बलेसरा पंचायत के मुखिया महातम चौधरी और उनके बेटे के हत्याकांड से जुड़ा अहम खुलासा किया है. गोपालगंज एसपी के द्वारा बनाये गए एसओजी यानि स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इस हत्याकांड में शामिल तीन शार्प शूटर और एक सहयोगी को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार किये गए अपराधियो के पास से पुलिस ने हत्याकांड में प्रयोग में लाये गए दो देशी पिस्तौल , 5 जिन्दा कारतूस , 4 मोबाइल फोन और एक लूटी गयी बाइक भी बरामद किया है. अपराधियो ने हत्याकांड से एक दिन पूर्व ही मीरगंज थानाक्षेत्र से बाइक की लूट की थी जानकारी है की बीते 29 मई को उचकागांव प्रखंड के बलेसरा पंचायत के मुखिया को उनके घर पर ही गोलियों से भून दिया गया था. इस घटना में मुखिया महातम चौधरी, उनकी पत्नी और दो बेटे गंभीर रूप से घायल हो गए थे. जिसमें मुखिया महातम चौधरी और उनके बेटे सत्येन्द्र यादव की इलाज के दौरान मौत हो गयी थी. जबकि पत्नी और बेटा की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है. इसी हत्याकांड का खुलासा आज मंगलवार को एसपी राशिद जमा ने किया. एसपी ने कहा कि हत्या की वजह राजनितिक साजिश है. जिसको लेकर स्थानीय पैक्स अध्यक्ष सुरेश चौधरी और बबलू दुबे ने साढ़े तीन लाख रूपये में हत्या की सुपारी दी थी. इस हत्याकांड में शामिल दो अभियुक्तों सुरेश चौधरी और बबलू दुबे को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया है जबकि आज इस कांड में 4 और अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है. एसपी के मुताबिक शूटरो में सूरज तिवारी, सूरज सिंह और राकेश प्रजापति को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसी कांड में लूटी गयी बाइक रखने के आरोप में एक अन्य अपराधी साहेब को भी गिरफ्तार किया गया है एसपी ने कहा की इस कांड में अभी और भी गिरफ़्तारी होनी बाकी है. बरामद हथियार को एफएसएल जांच के लिए भेजा जायेगा ताकि साइंटिफिक तरीके से अपराधियों के खिलाफ साक्ष्य जुटाए जा सकें।

Share

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Archives

x

Check Also

​​पटना को खून से लाल करने की थी साजिश,पकड़ा गया मोस्ट वांटेड..वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ ओझा की कलम से

.. तेरह साल बाद वह फिर से पटना में अपना खौफ कायम ...

Translate »