किशनगंज :-मक्का व्यापारी से लूट के बाद हत्या मामले में किशनगंज पुलिस ने 48 घंटे के अंदर सभी अपराधियों को किया गिरफ्तार

Share

सरफराज आलम की रिपोर्ट

किशनगंज पुलिस की बड़ी उपलब्धि लूट हत्या के आरोपियों को 48 घंटे के अंदर गिरफ्तार किया गया दिनांक 8 /7 /2018 को मक्का व्यापारी अख्तर हुसैन, की अपराधियों ने हत्या कर सबको फेंक दिया था।
की दिनांक 8/7/ 2018 को मृतक की पत्नी मेहनाज बेगम के लिखित आवेदन के आधार पर पति अख्तर हुसैन, की हत्या करने के आरोप में बहादुरगंज थाना कांड संख्या 212 /2018 धारा 302 /201 /393/ 341 /भा० द० वि० अंकित किया गया
कांड का सारांश है कि वादनी के पति अख्तर हुसैन, अकबर पिता नसीरुद्दीन साकिब बंबरया थाना कोधोबरी जिला किशनगंज के साथ गुलाब बाग मंडी में मक्का बेचने के लिए गए थे और मक्का बेचकर पैसा लेकर लौटने के क्रम में अकबर अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया।


पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष के निर्देश पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अखिलेश कुमार के नेतृत्व में कांड को 48 घंटे के अंदर उदभेडित करते हुए प्राथमिकी अभियुक्त 1. अकबर आलम,पिता नसीरुद्दीन,साकिब बनवरिया थाना कोडोबरी ज़िला किशनगंज एवं अकबर, के स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर कांड में शामिल अभियुक्त 2
2.मोहम्मद फैयाज, पिता मोहम्मद मुस्ताक, साकिब बोदरी थाना अमोल जिला पूर्णिया 3. मोहम्मद सद्दाम, पिता मंसूर आलम,साकिन बेगदह (मच्छर हटा) थाना -आमोर ,जिला पूर्णिया को गिरफ्तार किया गया।
लूटे गए दो लाख बारह हजार रुपए मृतक का Nokia मोबाइल फोन अभियुक्त के पास से 4 मोबाइल सेट घटना में प्रयुक्त बिना नंबर का Bajaj मोटरसाइकिल एवं मृतक की हत्या के बाद सब को ठिकाने लगाने में प्रयुक्त किए गए ट्रैक्टर ट्रॉली सहित बरामद किया गया।
इस छापेमारी टीम में बहादुरगंज थाना अध्यक्ष इरशाद आलम, पुलिस विजय कुमार,प्रभारी तकनीकी शाखा वीर प्रकाश, बहादुरगंज थाना सतेंद्र चंद्र उपाध्याय, बहादुरगंज थाना सिपाही अमरीश रमन, तकनीकी शाखा सिपाही अमर कुमार, अभिनीत कुमार, सचिन कुमार, महिला सिपाही असमीना खातून, एवं महिला सिपाही मोनी कुमारी, शामिल थे। पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि टीम को 10 हज़ार रुपये की राशि से पुरुस्कृत एवम दोनो पुलिस निरीक्षकों को एक एक सुसेवांक से सम्मानित किया गया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »